मुस्लिम युवकों की दाढ़ी काटने पर भड़के ओवैसी, पूछा- बीजेपी वालों के साथ ऐसा हो सकता है?

Asaduddin Owaisi- India TV Hindi News

Image Source : FILE PHOTO
Asaduddin Owaisi

Highlights

  • पांच मुस्लिम पुरुषों ने लगाया आरोप
  • जेल में दाढ़ी हटाने के लिए कहा गया
  • 15 सितंबर को उन्हें रिहा किया गया

MP News: मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में एक अपराध के लिए गिरफ्तार किए गए मुस्लिम समुदाय के पांच लोगों ने आरोप लगाया है कि जेल के एक अधिकारी ने उन्हें अपनी दाढ़ी कटवाने के लिए मजबूर किया, जिसके बाद प्रदेश के जेल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी को मामले की जांच करने के लिए कहा है। भोपाल मध्य से कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद ने आरोप लगाया कि जेल में इन लोगों के साथ दुर्व्यवहार किया गया। 

यह हिरासत में यातना का कृत्य है- ओवैसी

वहीं, आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने दावा किया,  यह हिरासत में यातना का कृत्य है। इस बीच, भोपाल मध्य से कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद ने पांच लोगों के साथ प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात की। राजगढ़ जिले में पांच लोगों- कलीम खान, तालिब खान, आरिफ खान, सलमान खान और वाहिद खान को 13 सितंबर को भादंवि की धारा 151 (सार्वजनिक शांति भंग) के तहत गिरफ्तार कर जिला जेल भेज दिया गया और उन्हें 15 सितंबर को रिहा किया गया। 

पांच लोगों को दाढ़ी बनाने के लिए मजबूर किया गया

मसूद ने जेल अधिकारियों पर आरोप लगाया कि उन्होंने पांच लोगों को दाढ़ी बनाने के लिए मजबूर किया और जेल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि जेल में इन लोगों के साथ दुर्व्यवहार भी किया गया। मसूद ने कहा कि मिश्रा ने उन्हें मामले में कार्रवाई का आश्वासन दिया है। राजगढ़ के जिला जेलर एस एन राणा ने अपने खिलाफ लगे आरोपों पर कहा कि संभावना हो सकती है कि उनकी दाढ़ी उनके अपने अनुरोध पर काटी गई हो, क्योंकि जेल में इस तरह की व्यवस्था है। 

Asaduddin Owaisi

Image Source : FILE PHOTO

Asaduddin Owaisi

‘आस्था के अनुसार दाढ़ी व बाल रखने की आजादी है’

उन्होंने कहा कि जेल में सभी को अपनी आस्था और आस्था के अनुसार दाढ़ी व बाल रखने की आजादी है। दाढ़ी वाले आठ से दस मुस्लिम कैदी पहले से ही जेल में बंद हैं। मामले की जांच कर रहे जेल उप महानिरीक्षक (डीआईजी) एम आर पटेल ने कहा कि अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि जांच चल रही है और जांच पूरी होने के बाद ही जानकारी साझा की जाएगी। 

उन पर मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया- ओवैसी

इस बीच, AIMIM प्रमुख ओवैसी ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किए गए एक वीडियो में दावा किया कि यह हिरासत में यातना का कृत्य है। उन्होंने कहा कि उन लोगों को भादंवि की धारा के तहत थाने में ही जमानत दी जा सकती थी, लेकिन उन पर मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया। उन्होंने पूछा, “दाढ़ी वाले पुरुषों को पाकिस्तानी क्यों कहा जाता है।” उन्होंने जानना चाहा कि क्या दाढ़ी वाले बीजेपी के लोगों के साथ ऐसा किया जा सकता है।

function loadFacebookScript(){
!function (f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq)
return;
n = f.fbq = function () {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments);
};
if (!f._fbq)
f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s);
}(window, document, ‘script’, ‘//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1684841475119151’);
fbq(‘track’, “PageView”);
}

window.addEventListener(‘load’, (event) => {
setTimeout(function(){
loadFacebookScript();
}, 7000);
});

Source link