योगी सरकार के 100 दिन: अपराधियों पर कसी नकेल, 500 से ज्यादा एनकाउंटर और करोड़ों की संपत्ति जब्त

Yogi 2.0 Govt of 100 days- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV
Yogi 2.0 Govt of 100 days

Highlights

  • 100 दिनों में पुलिस मुठभेड़ में 525 एनकाउंटर
  • 25 मार्च 2022 से लेकर एक जुलाई 2022 तक का डाटा
  • माफियाओं की 192 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त

Yogi 2.0 Govt of 100 days: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो गए हैं। उन्होंने 25 मार्च 2022 को दूसरी बार यूपी के सीएम के रूप में शपथ ली थी। वह यूपी के सियासी इतिहास में पहले ऐसे सीएम हैं, जो 5 साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद दोबारा सीएम बने हैं। अपराधियों पर शिकंजा कसना हो या कानून व्यवस्था बेहतर करनी हो, योगी सरकार ने अपने कार्यकाल में कई ऐसे फैसले लिए हैं, जिनकी हर तरफ चर्चा हो रही है।

100 दिनों में पुलिस मुठभेड़ में 525 एनकाउंटर 

योगी सरकार (CM Yogi) अपराधियों के खिलाफ सख्त रवैया अपना रही है। 25 मार्च 2022 से लेकर एक जुलाई 2022 तक कुल 525 एनकाउंटर हुए है। इस दौरान 1034 अपराधी गिरफ्तार किए गए हैं और 425 बदमाश पुलिस मुठभेड़ में घायल हुए हैं। बदमाशों से हुई इस मुठभेड़ में 68 पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं। 

यूपी में किन जगहों पर कितने एनकाउंटर 

मेरठ जोन में 193, बरेली जोन में 62, आगरा जोन में 55, लखनऊ जोन में 48, लखनऊ कमिश्नरी में 6, वाराणसी जोन में 36, गोरखपुर जोन में 37 और नोएडा कमिश्नरी में 44 एनकाउंटर हुए हैं। 

कहां कितने पुलिसकर्मी घायल हुए

मेरठ जोन में 27, बरेली जोन में 16, गोरखपुर जोन में 10, लखनऊ जोन में 9, कानपुर जोन में 2, वाराणसी जोन में 3, लखनऊ कमिश्नरी में 1 पुलिसकर्मी बदमाशों में मुठभेड़ में घायल हुए। 

माफियाओं की 192 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त 

योगी सरकार माफियाओं को चिन्हित करके उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है। एक तरफ उनके अवैध निर्माणों पर बुलडोजर चल रहा है। वहीं दूसरी तरफ उनकी संपत्ति भी जब्त की जा रही है। प्रदेश स्तर के 50 चिन्हित माफियाओं के अलावा डीजीपी मुख्यालय ने भी 12 माफियाओं को चिन्हित किया है। 25 मार्च 2022 से जून 2022 तक  गैंगस्टर एक्ट में कुल 192 करोड़ 40 लाख 34 हजार 582 रुपए की संपत्ति जब्त हुई है। 

माफियाओं से जुड़े आंकड़े डीजीपी मुख्यालय ने किए जारी 

पुलिस ने 2,433 बदमाशों और माफियाओं को चिन्हित किया है। इसके अलावा 17,169 केस दर्ज किए गए हैं। इस दौरान 1,645 लोग गिरफ्तार किए गए हैं और 134 लोगों ने कोर्ट में सरेंडर किया है। 15 के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की गई है और 36 लोगों के खिलाफ एनएसए लगा है। 788 लोगों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की गई है और 618 पर गुंडा एक्ट लगा है। इस दौरान 47 लोगों के लाइसेंस भी कैंसिल किए गए हैं और 719 पेशेवर अपराधियों की हिस्ट्री शीट खोली गई है।

इस समय क्या है माफियाओं की हालत

इस समय यूपी में माफिया बचते-दुबकते नजर आ रहे हैं। वह जानते हैं कि योगी सरकार में वह अवैध काम नहीं कर पाएंगे और किया तो कार्रवाई निश्चित होगी। यही वजह है कि इस समय 619 माफिया जेल में बंद हैं। 1744 जमानत पर हैं और 18 मारे गए हैं। 52 चिन्हित माफियाओं को खोजा जा रहा है। 

function loadFacebookScript(){
!function (f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq)
return;
n = f.fbq = function () {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments);
};
if (!f._fbq)
f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s);
}(window, document, ‘script’, ‘//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1684841475119151’);
fbq(‘track’, “PageView”);
}

window.addEventListener(‘load’, (event) => {
setTimeout(function(){
loadFacebookScript();
}, 7000);
});

Source link