सिंघु पर निर्मम हत्या से जुड़ा न्या विवाद: ​​​​​​​ढडरियां वाले बोले कनाड़ा की महिला ने वीडियो भेजकर कहा मैने बच्चे सिख नहीं बनाने

लुधियाना11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सिंघु पर हुई दलित व्यक्ति से न्या विवाद जुड गया है। सिख प्रचारक रणजीत सिंह ढडरियां वाले ने इस पर सवाल खड़े किए गए हैं। संत ढडरियां वाले का कहना है कि इस हत्या के बाद कनाड़ा से एक महिला ने उन्हें दस मिंट की वीडियो भेजकर कहा है कि वह अपने बच्चों को सिख नहीं बनाएगी और न ही वह बच्चों को सिखों के बारे में बताएगी। क्या वह यह सीखेंगे कि सिख किसी भी हत्या कर उसका शव बेरीगेट से लटका देते हैं। ढडरियां वाले की एक वीडियो लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें वह कह रहे हैं कि इस निर्मम हत्या के बाद कई सवाल उठ रहे हैं, क्यों हत्या से पहले हुई बेअदबी की घटना के सबूत सामने नहीं लाए जा रहे हैं। लखवीर सिंह के कबूलनामे की एक भी वीडियो सामने नहीं आई है। इस तरह की हत्या से पूरी दुनिया में सिखों के प्रति कई तरह की धारनाएं पैदा होने लगी हैं। लोग सोच रहे हैं कि सिख भी तालिबान की तरह ही अपने फैसले लेते हैं। यही नहीं अगर मुस्लमान उनके धर्म को नहीं मानने वालों की हत्याएं करने लगे और हिंदू अगर जय श्री राम कहने वालों की हत्याएं करने लगे तो फिर क्या होगा। उन्होंने यह भी आशंका जाहिर की है कि यह हत्या बेअदबी की नहीं बल्कि योजना के तहत लिया गया बदला है। कहीं इस घटना के बाद से यही काम शुरू न हो जाए कि बदला लेने के लिए बेअदबी से हर हत्या को ना जोड़ा जाने लगे। इस लिए अब गुरुद्वारा साहिब जाने से पहले यह भी चेक करना होगा कि वहां सीसीटीवी कैमरे लगे हैं या नहीं। कहीं य न तो कि लोग डर के मारे गुरुद्वारा साहिब ही आना छोड़ दें। पहले भी सिख मसलों पर बोलते रहे हैं ढडरियां वाले पटियाला में गुरुद्वारा परमेश्वर द्वार में सिख प्रचार करने वाले रणजीत सिंह ढडरियां वाले देश विदेश में कथा करते हैं। वह सिखों के मसलों पर खुदकर बोलते हैं और उनका टकराव कई बार अकाल तख्त के जत्थेदार और दूसरे सिख प्रचारकों से हो चुका है। निहंग सिंहों द्वारा की गई हत्या की वीडियो भी उनकी कथा करते की ही है और वह संगत को इस पर खुलकर विचार दे रहे हैं। जिसका एक हिस्सा लगातार वायरल किया जा रहा है और वह हत्या पर कई तरह के सवाल उठा रहे हैं। बोले निहंग सिंह हमारे किसी से लाइसेंस की जरूरत नहीं निहंग सिंह राजा राम सिंह इस पर कहते हैं कि उन्हें किसी से भी लाइसेंस या निर्देश लेने की जरूरत नहीं है। लखबीर सिंह ने बेअदबी की है और हमने उसे सजा दे दी। हम सिख हैं और सिख धर्म की रक्षा करना हमारा पहला फर्ज है। यह बेअदबियां 2015 से हो रही हैं और हर बेअदबी करने वाले को पागल करार दे दिया जाता है। अगर वह पागल हैं तो हमें भी पागल कह सकते हैं। रणजीत सिंह ढडरियां वाले के अपने तर्क हैं और हमारे अपने असूल हैं। मैं फिर कह रहा हूं कि मैने कोई गलती नहीं की है।

खबरें और भी हैं…

Source link