15 अगस्त पर दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम: पंजाब पुलिस ने चार आतंकी पकड़े; IED के साथ तीन ग्रेनेड और पिस्टल बरामद

अमृतसर9 घंटे पहले

पकड़े गए आतंकियों से बरामद हथियार।

पंजाब पुलिस ने नई दिल्ली से चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए चारों आतंकी कनाडा में बैठे अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला और ऑस्ट्रेलिया में बैठे गुरजंट सिंह उर्फ जनता के करीबी हैं। पुलिस ने इन चारों से IED के अलावा तीन ग्रेनेड, दो पिस्टल और 40 कारतूस बरामद किए। पंजाब पुलिस का दावा है कि इनकी प्लानिंग 15 अगस्त पर दिल्ली में ब्लास्ट करने की थी। चारों की गिरफ्तारी में दिल्ली पुलिस की मदद भी ली गई।

पंजाब के DGP गौरव यादव ने बताया कि एक हफ्ते में पकड़ा गया यह तीसरा आतंकी मॉड्यूल है जिसके कनेक्शन क्रॉस बॉर्डर से हथियारों की तस्करी करने वालों से जुड़ रहे हैं। पकड़े गए आरोपियों में से 2 पंजाब और 2 दिल्ली के रहने वाले हैं। इनमें दीपक शर्मा निवासी प्रीतनगर (मोगा), संदीप सिंह निवासी गांव कोटकरोड़ कलां (फिरोजपुर), सन्नी डागर निवासी ईशापुर गांव (दिल्ली) और विपन जाखड़ निवासी गोयला खुर्द (नई दिल्ली) है। इन चारों ने हथियारों के साथ दिल्ली में पनाह ले रखी थी।

दिल्ली में गिरफ्तार किए गए 4 आतंकियों से बरामद तीन ग्रेनेड।

दिल्ली में गिरफ्तार किए गए 4 आतंकियों से बरामद तीन ग्रेनेड।

इनपुट के बाद रेड

पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि पंजाब पुलिस के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (SSOC) को पुख्ता इनपुट मिला था कि दीपक, सन्नी और संदीप नई दिल्ली के गोयला खुर्द गांव में अपने चौथे साथी विपिन जाखड़ के साथ उसी के घर में छिपे हुए हैं। इसके बाद SSOC की टीम ने नई दिल्ली पुलिस के द्वारका थाने की टीम के साथ जाखड़ के घर रेड की। वहां से इन चारों को दो पिस्तौल और 40 जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के बाद इन चारों ने पंजाब में उनकी ओर से छिपाई एक IED और तीन ग्रेनेड बरामद करवाए।

दिल्ली-पंजाब में दहशत फैलाने की साजिश

पंजाब के DGP के अनुसार, चारों आतंकियों ने बताया कि उन्हें अर्श डल्ला ने स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली और पंजाब में माहौल बिगाड़ने का जिम्मा सौंपा था। गिरफ्तार किया गया दीपक मोगा के ही जसविंदर सिंह जस्सी को मारने और पंचायत सेक्रेटरी के घर पर फायरिंग करने के केस में भी वांटेड था। इसी तरह संदीप सिंह कुछ समय पहले ही दुबई से लौटा था। उसी ने पंचायत सेक्रेटरी के घर फायरिंग के लिए दीपक को हथियार उपलब्ध करवाए थे।

इनका तीसरा साथी सन्नी डागर जेल से पैरोल पर बाहर आया हुआ था। डागर नीरज बवाना और तीलू तेजपुराया गैंग का एक्टिव मैंबर है। उसने दिल्ली और आसपास के एरिया में कई वारदातें की हैं। विपन जाखड़ का काम इन तीनों को पैसे और हथियार उपलब्ध कराना था।

गैंगस्टर से आतंकी बनी अर्श डल्ला

कनाडा में बैठा अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला गैंगस्टर से आतंकी बना है। वह मोगा का रहने वाला है लेकिन अब कनाडा में ही सैटल हो चुका है। वह काफी समय से गैंगस्टर और आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है। वह पाकिस्तान में बैठे अपने साथियों से संपर्क करके भारत में हथियारों की डिलीवरी करवाता है। पंजाब पुलिस पहले ही अर्श डल्ला के कई मॉड्यूल का पर्दाफाश कर उसके नजदीकी साथियों को गिरफ्तार कर चुकी है। फिलहाल पुलिस अर्श डल्ला को भारत डिपोर्ट कराने की कोशिश में जुटी है। उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जा चुका है।

Source link