Delhi: यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर, प्रशासन ने जारी किया बाढ़ का अलर्ट

Delhi Yamuna Flood: दिल्ली में इस सप्ताह की शुरुआत में कुछ दिनों की लगातार बारिश के बाद यमुना में जल स्तर खतरे के निशान को पार कर गया है. जिसे गंभीरता से लेते हुए दिल्ली में यमुना किनारे के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए मंगलवार को एक निकासी अलर्ट भी जारी किया गया. अधिकारियों ने बताया कि नदी का जलस्तर 206.16 मीटर तक पहुंच गया है, जो खतरे के निशान 205.33 मीटर से काफी ऊपर है. लगातार बारिश के बाद यह इस साल अब तक का सबसे ऊंचा स्तर है.

बाढ़ को लेकर अलर्ट जारी

पूर्वी दिल्ली के जिला मजिस्ट्रेट अनिल बांका ने कहा कि जलस्तर 206 मीटर के स्तर को पार करने के बाद मंगलवार सुबह निकासी अलर्ट जारी किया गया था. नदी के किनारे के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को निकाला जा रहा है और ऊंचे स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. उनके रहने की व्यवस्था सरकारी स्कूलों और आसपास के इलाकों में रैन बसेरों में की गई है.

लगभग 37 हजार लोग प्रभावित

बांका ने कहा कि जल स्तर में और वृद्धि के बारे में लोगों को सावधान करने के लिए घोषणाएं की जा रही हैं. दिल्ली में नदी के पास के निचले इलाकों को बाढ़ की चपेट में माना जाता है. इन इलाकों में लगभग 37,000 लोगों के घर हैं. दो महीने के भीतर यह दूसरी बार है जब अधिकारी निचले इलाकों में बाढ़ के कारण वहां रहने वाले लोगों को निकाल रहे हैं. यमुना ने 12 अगस्त को 205.33 मीटर के खतरे के निशान को पार कर लिया था, जिसके बाद लगभग 7,000 लोगों को नदी के किनारे के निचले इलाकों से निकाला गया था.

यमुना में जलस्तर को लेकर जरूरी जानकारी

दिल्ली बाढ़ नियंत्रण कक्ष ने कहा कि पुरानी दिल्ली रेलवे पुल पर जल स्तर मंगलवार सुबह 5.45 बजे निकासी स्तर 206 मीटर को पार कर गया. सुबह 8 बजे तक नदी बढ़कर 206.16 मीटर हो गई. अधिकारियों ने हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से सुबह 7 बजे लगभग 96,000 क्यूसेक पानी छोड़ने की सूचना दी.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

(एजेंसी इनपुट के साथ)

$(window).on(‘load’, function() {
var script = document.createElement(‘script’);
script.src = “https://connect.facebook.net/en_GB/sdk.js#xfbml=1&version=v5.0&appId=2512656768957663&autoLogAppEvents=1”;
document.body.appendChild(script);
});

Source link