UP चुनाव से पहले केशव प्रसाद मौर्य का ऐलान, ‘अयोध्या हमारी, अब काशी-मथुरा की बारी’

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने यूपी विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election) से पहले बड़ा ऐलान किया है. केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने ज़ी न्यूज़ के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि अयोध्या (Ayodhya) हुई हमारी, अब काशी-मथुरा (Kashi-Mathura) की बारी है.

केशव प्रसाद मौर्य ने क्या कहा?

यूपी के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अयोध्या में भगवान रामलला के भव्य मंदिर निर्माण से भक्तों में खुशी है. जैसा कि हम लोग आंदोलन के समय नारा लगाते थे कि अयोध्या हुई हमारी अब काशी-मथुरा की बारी. काशी और मथुरा दोनों हमारी हैं. काशी में कॉरिडोर बन चुका है. अब कृष्ण जन्मभूमि की बारी है. ये सारा काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में और जनता के आशीर्वाद से हो रहा है.

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पीएम मोदी 13 दिसंबर को 11 अर्चकों के साथ बाबा विश्वनाथ का जलाभिषेक और पूजन-अर्चन करेंगे. पीएम मोदी काशी में दो दिन तक रहेंगे. द्वादश ज्योतिर्लिंग के अर्चकों को भी न्योता दिया गया है. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के उद्घाटन पर चारों पीठ के पीठाधीश्वर और धर्म आचार्य भी मौजूद रहेंगे. इसका जिम्मा अखिल भारतीय संत समिति के ऊपर है.

ये भी पढ़ें- Omicron के खतरे पर गृह मंत्रालय गंभीर, सभी राज्यों को भेजी एडवाइजरी

काशी में कई पुराने मंदिर मिले- मौर्य

उन्होंने आगे कहा कि अधिग्रहण से लेकर निर्माण तक करीब 600 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. कई पुराने मंदिर और विग्रहों का पता चला है. 125 छोटे-बड़े मंदिरों और विग्रहों को इस कॉरिडोर में एक श्रृंखला के तौर पर स्थापित किया गया है.

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि 245 साल के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर के जीर्णोद्धार का काम कराया गया है. इससे पहले अहिल्याबाई ने मंदिर के जीर्णोद्धार का काम कराया था.

LIVE TV

Source link